धारा 370 कब शुरू हुई और इसका इतिहास

धारा 370 कब शुरू हुई और इसका इतिहास

इस पोस्ट में धारा 370 के बारे में जानकारी दूंगा किसने धारा 370 लागू की और यह किसने बनाई थी और पहली बार इसको कब लागू किया क्योंकि धारा 370 भारत में एक बहुत बड़ी समस्या बनी हुई है. और यह एक बहुत ही खतरनाक धारा है. और इसको समाप्त करने के लिए भारतीय जनता पार्टी वह दूसरे अन्य पार्टियों ने बहुत कोशिश की है. लेकिन इसको समाप्त नहीं किया जा सका और यह हमारे लिए बहुत बड़ा खतरा बन सकती है.

यह हमारे देश के लोगों को बहुत नुकसान भी होता है. अगर आपके पास धारा 370 हटाने के उपाय है तो नीचे कमेंट में बताये अब हम  आपको धारा 370 के बारे में पूरी और विस्तार से जानकारी देंगे  तो आप इस जानकारी को अच्छी तरह से पढ़े ताकि आपको भी हमारे देश की इस धारा के बारे में पता चले कि आखिर क्यों हमारे देश के लोग इस धारा का विरोध करते हैं .

धारा 370 कब शुरू हुई और इसका इतिहास

धारा 370 भारतीय संविधान का एक ऐसा कानून है. जिसके अनुसार जम्मू कश्मीर को भारत के दूसरे राज्यों से अलग विशेष दर्जा प्राप्त है जब भारत आजाद हुआ था. 15 अगस्त 1947 में जब से लेकर अब तक यह धारा भारतीय राजनीति दलों में बहुत विवादों में रही है. भारतीय जनता पार्टी में दूसरे राष्ट्रीय दल इसे देश विरोधी बता रहे हैं. और यह दल इस धारा 370 को समाप्त करना चाहते हैं. लेकिन अभी तक इस धारा को समाप्त नहीं किया गया है.

आप यह जानने की कोशिश जरूर करते होंगे. कि आखिरकार इस धारा को समाप्त करने की कोशिश क्यों की जा रही है. ऐसा क्या है. इस धारा में जो कि राष्ट्रीय दल राजनीतिक दल इसको समाप्त करने की कोशिश कर रहे है. और क्या यह धारा हमारे देश के लिए फायदेमंद है. तो मैं आपको बता दूं कि जब 1947 में भारत पाकिस्तान का बंटवारा हुआ था उस समय जम्मू कश्मीर के राजा हरिसिंह थे. और राजा हरि सिंह स्वतंत्र रहना चाहते थे. लेकिन उसी समय पाकिस्तान के समर्थक कबीलाई ने जम्मू कश्मीर पर आक्रमण कर दिया. उसके बाद राजा हरि सिंह ने जम्मू कश्मीर को भारत में शामिल करने की मांग की ताकि जम्मू कश्मीर को पाकिस्तान के आक्रमण से बताया जा सके और वहां की जनता की जान और अपनी प्रजा की रक्षा की जा सके. लेकिन जब भारत के पास इतना समय नहीं था कि कश्मीर को भारत में शामिल करने के लिए काम शुरू किया जा सके.

लेकिन इन परिस्थितियों को देखते हुए संघीय संविधान सभा में नेहरू के चेले गोपाल स्वामी आयंगर ने धारा 306 A का ड्राफ्ट प्रस्तुत किया जो कि बाद में धारा 370 बन गई और धारा 306 A का ड्राफ्ट खुद नेशनल कांफ्रेंस के नेता शेख अब्दुल्ला ने अपने हाथों से तैयार किया था. और नेहरू ने अपने दोस्त से एक अब्दुल्ला की खुशी के लिए इस धारा को हमारे देश पर लागू कर दिया. नेहरू की वजह से ही महाराजा हरि सिंह को जम्मू कश्मीर का शासन शेख अब्दुल्ला के हाथों में सौंपना पड़ा. और सरदार पटेल को इस बात से गुमशुदा रखकर धारा 370 लागू करवा दी गई और इसी वजह से नेहरू और सरदार पटेल की दोस्ती टूट गई धारा 370 इतनी खतरनाक थी. कि उस समय उस समय के कानून मंत्री और संविधान के निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर ने भी इस धारा को लागू करने से मना कर दिया था. लेकिन नेहरू के जबरदस्ती करने से आखिरकार जम्मू-कश्मीर में इस धारा को लागू कर दिया गया. और उसके कारण जम्मू-कश्मीर को कुछ विशेष अधिकार मिल गए. तो वे कोन-कौन से विशेष अधिकार थे जो कि धारा 370 को लागू करने के बाद जम्मू-कश्मीर को मिल गए तो उसके बारे में मैं आपको नीचे बता रहा हूं.

धारा 370 के प्रभाव

जम्मू कश्मीर के लोगों के पास दो नागरिकता होती है एक जम्मू-कश्मीर की और एक भारत की जम्मू कश्मीर का अपना अलग राष्ट्रीय झंडा है. जम्मू कश्मीर में भारत के राष्ट्रीय ध्वज का अपराध नहीं माना जाता जम्मू कश्मीर की विधानसभा का कार्यकाल 6 वर्ष का होता है. जबकि भारत की विधानसभा का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है.

जम्मू कश्मीर में भारतीय सुप्रीम कोर्ट के कानून को नहीं माना जाता है. यदि जम्मू कश्मीर की कोई लड़की भारत की किसी अन्य राज्य के लड़के से शादी करती लेती है तो उस लड़की की नागरिकता समाप्त हो जाती है. और यदि जम्मू कश्मीर की लड़की पाकिस्तान के किसी लड़के से शादी कर लेती है. तो उस लड़के को भी जम्मू कश्मीर की नागरिकता मिल जाती है धारा 370 की वजह से कश्मीर में Right to Information CAG RTE भी लागू नहीं है. अगर हम सीधे तौर पर बात करें तो भारत का कोई भी कानून जम्मू-कश्मीर में लागू नहीं है. कश्मीर में रहने वाले अल्पसंख्यक जो कि हिंदू और सिख हैं. उन को 16% आरक्षण भी नहीं मिलता है.

कश्मीर में महिलाओं पर शरियत कानून लागू है. धारा 370 के अनुसार कश्मीर में बाहर के लोग जमीन नहीं खरीद सकते हैं. और जबकि कश्मीर का कोई भी नागरिक भारत के किसी अन्य राज्य की जमीन खरीद सकता है. जम्मू कश्मीर का अपना अलग संविधान है भारत की संसद जम्मू कश्मीर में रक्षा, विदेश मामले, और संचार के अलावा कोई दूसरे कानून नहीं बना सकती है. धारा 370 के अनुसार राष्ट्रपति के पास राज्य के संविधान को बर्खास्त करने का अधिकार भी नहीं है. और ना ही जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन को लागू किया जा सकता है.

तो आज हमने आपको इस पोस्ट में एक बहुत ही महत्वपूर्ण और अच्छी जानकारी आपको बताई है. इस पोस्ट में हमने आपको धारा 370 क्या है. इसको किसने लागू किया और यह इसके क्या-क्या प्रभाव हैं के बारे में जानकारी दें. यदि हमारे द्वारा बताई गई है. जानकारी आपको पसंद आए तो शेयर करना ना भूलें और यदि आपका इस पोस्ट के बारे में आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं.

34 Comments
  1. अखिलेश भटनागर says

    १.जब जम्मु कश्मीर मे हरी सिहं का राज था तो ये शेख अबदुल्ला बीच मे कंहा से आ गये.
    २.क्या ३७० केवल कश्मीर मे ही लागू है या जम्मू मे भी लागू है.
    ३.३७० मे शादी का प्रावधान क्या केवल उन मुस्लिम महिलाआे के लिये ही है जो कश्मीर मे रहते हों. क्या यह उन हिन्दू महिलाओ पर भी लागू होता है जो जम्मू मे रहती हैं

    ४.क्या जम्मू कश्मीर का ध्वज, विधान सभा, हाई कोर्ट या अन्य सरकारी इमारतो पर फहराता है, भारत का तिरंगा नही.
    अभी के लिये इतना ही.
    कृप्या अपने विचार/ टिप्पणी जरूर करे ताकि इसे और अच्छे
    एंव प्रभावी तरीके से समझने मे सहायता मिलें.
    धन्यवाद,

  2. mohan Sharma says

    हमे bjp पर पूरा यकीन है कि हमारी सरकार इस धारा को हमेशा के लिए नष्ट कर देगी

  3. KHALIQUR RAHMAN says

    bhai koi aur v toh rasta apnalo q khonkharaba krwana chahte ho tmhari jaisi hi soch ne desh ko kai tukdo mein kiya h fir v aqal nhi aya puri duniya tarakki kr rhi h & india dharmo k chakkar mein 1 2sre ka khunkhraba krke apne 7 7 desh ko v barbad kr rha h

  4. vinod khanna says

    Your Comment modi ka dubara pm banna

  5. के पटेल says

    भारत सरकार, जम्मू कश्मीर धारा 35a, 370, को नही हटा सकता तो, पाकिस्तान को दे दो, इसका कारण है हमारे देश का पैसा और सेना का खर्चा भारत सरकार उठता है, जम्मू कश्मीर के लोग हमारे सेना के ऊपर पत्थर बरसाते है, धारा 370, 35 के कारण है, हाट जायेगा तो सारा परेशनी खत्म हो जाएगा ,

  6. के पटेल says

    भारत सरकार जितना जल्दी हो से धारा 370 हटा देना चाहिए, तभी भारत का पूरा हिस्सा होगा, दूसरे राज्य के लोग वाह जमीन नही ले सकती , जॉब नही कर सकता, सादी नही कर सकता और ना ही दूसरे, राज्यों के नियम लागू नही होता तो, कहा का भारत का हिसा है , राजनीति में आपने फायदे के लिए लोगो को गुमराह कर रहे है, यहाँ तक जम्मू कश्मीर की लड़की ब भारत के लड़के के साथ सदी करता है तो कश्मीर के नागरिता खत्म हो जाती है, और पाकिस्तान के साथ करता है तो भारत का नागरिक बन जाता है, हमारे देश का पैसा खर्चा करने के बाद भी कश्मीर का नागरिता नही तो मतलब नही है कश्मीर में पैसा खर्चा करना , भारत मे मिलाओ तभी वाह के विकास संभव है, नही तो अलगाववादी राजनीतिक वाले कश्मीर को एक दिन पाकिस्तान को ही बेच देंगे, अगर 370, 35ए नही हटा तो, यह बात गारन्टी के साथ बोल सकता हु, यहाँ के रराजनीति बहुत ख़राब हो गया है, एक दूसरे के उप्पर लांछन लगा रहे है, देश हित मे किसको सोचने का समय नही है, संसद का वेतन बढ़ना है तो एक मत से पास होता है, वही देश हित मे एक साथ सोचने का समय नही है , सांसद मॉनसून सत्र में हंगामा कर के समय ख़रब कर देते है,और कोई बिल भी पास नही हो सकता,

  7. Ranveer says

    Sir 370 hi nahi agar desh ko bchana h to centre or j&k me BJP yani modi ko purn bahumat se lana jaruri h. Nahi to 370 kya India me dubara mugal samrajay jaldi hi aane wala h.
    Kyoki is samsya ka samadhan modi ji ke pas hi h. Congress ka to yah dhara lagu karne me hath h.

  8. Arjun says

    dhara 370 hate chahe na hate sidhi si baat ha bhart se pak ka koi samband nahi ha to kasmeer se kiun ha kasmeer pak se koi samband nahi rakhna ha ager wanha ki hindu janta kah rahi ha to dhara 370 hata doo kah doo ki ye niym 1 pakistani ne likha tha hindustan iska samertn nahi karta ha mai arjun maurya from pratapgard se

  9. Ashish keshri says

    दो तिहाई बहुमत होने पर धारा 370 को हटाया जाएगा। अलबत्ता धारा 370 के हटने तक जम्मू कश्मीर में विकास रुकेगा नहीं बल्कि हर क्षेत्र का विकास किया जाएगा।

  10. Rajesh Kumar says

    अभी 2019 में आम चुनाव होने वाले हैं मेरी सभी भारतीय नागरिकों से अनुरोध है कि जो भी नेता वोट के लिए प्रचार करने आए उनके सामने सबसे पहले यह मुद्दा रखें कि वह कश्मीर से धारा 370 हटाएंगे या नहीं क्योंकि यह बीज कांग्रेस का बोया हुआ है उसने इस देश को बहुत कुछ बर्बादी किया है क्योंकि जो भी कश्मीर में सुविधा दी जा रही है वह जनता का लूट रहा है नेताओं का नहीं

Leave A Reply

Your email address will not be published.