अंटार्टिका के बारे में रहस्यमय चीजें और रोचक जानकारी

अंटार्टिका के बारे में रहस्यमय चीजें और रोचक जानकारी

 हम आपको आज इस पोस्ट में एक और बढ़िया और रोचक जानकारी देंगे इसके बारे में शायद आपने पहले कभी पढ़ा भी नहीं होगा और ना ही सुना होगा और अगर पढ़ा भी होगा तो कुछ खास नहीं पढ़ा होगा तो हम आपको आज अंटार्कटिक के बारे में कुछ रहस्यमई बातें और रोचक जानकारी बताएंगेवैसे तो अंटार्कटिक के ऊपर बहुत से रिसर्च हुई है बहुत खोज हुई है लेकिन हम आपको बहुत सी ऐसी जानकारी देंगे जो कि शायद आपके लिए जानना भी जरूरी होगा अंटार्कटिक दुनिया लगभग सबसे ठंडा क्षेत्र है. 

अंटार्कटिक का दुनिया का दक्षिणतम ध्रुव है यह दक्षिण ध्रुव के बीचों बीच स्थित है यह और अपने 140 लाख वर्ग किलोमीटर के विस्तार के साथ यह एशिया ,अफ्रीका उत्तरी, अमेरिका दक्षिण अमेरिका ,यूरोप के बाद पांचवां सबसे बड़ा महाद्वीप है यह दुनिया की सबसे ठंडी शुष्क और सबसे तेज हवाओं वाली जगह है यहां पर शरीर को गला देने वाली ठंड है और इसके चारों ओर जहां तक नजर जाए वहां तक बर्फ की चादर ही नजर आती है .

अंटार्टिका के बारे में रहस्यमय चीजें और रोचक जानकारी

1.  अंटार्कटिका पर वहां का कोई भी इंसान स्थायी नहीं है लेकिन यहां पर विभिन्न देशों के रिसर्च स्टेशन है जहां पर हर साल 2000 से 5000 लोग आते-जाते रहते हैं यहां पर भारत ने अब तक तीन रिसर्च स्टेशन डाले हैं जिसमें दो चल रहे हैं अंटार्टिका की सबसे ठंड में रहने वाली स्पीशीज और प्राणी ही बहुत ही कम ही संख्या में मौजूद है जिसमें पेंगुइन, सील, निमेटोड, टार्डीग्रेड, पिस्सूऔर भिन्न प्रकार के सवाल विभिन्न प्रकार के शैवाल का समावेश होता है अंटार्टिका के रैंडम फैक्स के बारे में जानते हैं अंटार्कटिका यूरोप से डेढ़ गुना और भारत से साढ़े 4 गुना बड़ा है यह लगभग  53 लाख साल पहले बिल्कुल गरम हुआ करता था और इस का तापमान हमेशा 20 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहता था और वहां पर खजूर के पेड़ भी होते थे लेकिन जाहिर सी बात है उसका भूभाग पृथ्वी के इतने दक्षिणी छोर पर नहीं था .

2.  पृथ्वी के प्लेट सरकने से अंटार्कटिका दक्षिणी छोर पर स्थित हुआ है लाखों साल से हो रही गतिविधियों से पृथ्वी पर कई द्वीप महाद्वीप और देश एक दूसरे से अलग अलग हुए हैं या एक दूसरे से जुड़े हैं हम इंसानों द्वारा नापा हुआ अंटार्टिका का आज तक का सबसे कम तापमान माइनस 99.2 डिग्री सेल्सियस रहा है तापमान पृथ्वी का आज तक का सबसे न्यूनतम तापमान है इस रिकॉर्ड को 19 जुलाई 1983 में रिकॉर्ड किया गया था.

3.  अंटार्कटिका की खोज किसने की – नॉर्वे के रोआल्ड एमुंडसेन पहले इंसान थे जो कि दक्षिण ध्रुव तक पहुंच पाए थे अंटार्टिका के कुछ जगह ऐसी भी है जहां पर पिछले 20 लाख सालों से ना तो बर्फ गिरी है ना ही बारिश हुई हुई फिर भी वहां पर लाखों साल पुरानी बर्फ के बड़े बड़े पहाड़ मौजूद हैं यह जगह पृथ्वी पर सबसे शुष्क जगह है इसलिए इसे ड्राइवरी कहा जाता है अंटार्टिका में मैक मोहन नाम का अमेरिका का एक न्यूक्लियर पावर स्टेशन भी है जो कि 1962 से यहां पर चल रहा है बर्फ के पहाड़ में औसतन डेढ़ किलो मीटर मोटी बर्फ की चादर लगभग पूरे खंड में छाए हुए हैं यहां पर पृथ्वी का 90% पानी बर्फ के रूप में मौजूद है यहां पर कई जगह ऐसी भी है जहां पर 36 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलती है पूरी धरती पर सिर्फ अंटार्कटिका और न्यूजीलैंड ही एक ऐसी जगह है जहां पर किसी भी जाति के सांप नहीं पाए जाते हैं यह दुनिया का सिर्फ एक मात्र ही ऐसा महाद्वीप है जहां पर कोई भी टाइम जोन नहीं है

4.  जन्म लेने वाले वीडियो एमिली प्लामा नाम का एक आदमी दुनिया के सबसे आखिरी छोर पर जन्म लेने वाला पहला इंसान बनाए मूल्यों का जन्म 7 जनवरी 1971 में उसका जन्म हुआ था एमिली की माता अर्जेंटीना से थी यह अर्जेंटीना द्वारा खुद को अपना एक हिस्सा बनाने का प्रयास था इसलिए अर्जेंटीना ने अपने देश की एक गर्भवती औरत अंटार्कटिका पर भेजा था .

5.  यह स्थान कई  रहस्यों  से भी गिरा हुआ है कई वैज्ञानिकों का यह दावा है कि एक समय पर यहां पर अति विकसित सभ्यता मौजूद थी ग्रीक दार्शनिक प्लेटो ने भी 2000 साल पहले अंटार्कटिका पर मानव सभ्यताएं उनके संहार होने का वृतांत लिखा है. जो हमारे लिए चौका देने वाली जानकारी है क्योंकि हमारा मानना था कि वहां पर जीवन संभव नहीं है इसलिए यह जानकर कुछ रोमांचक मनुष्य ने अंटार्टिका पर सभ्यताओं पर रिसर्च करना शुरू किया और वहां पर जाकर खोजबीन की और वहां पर कुछ अवशेष और जो तथ्य सामने आए वह प्लेटो वैज्ञानिक के अनुमान से बिल्कुल मिलते-जुलते थे इसके ऊपर कई वैज्ञानिक यह भी कहना है कि हो सकता है सालों पहले हमारे अज्ञात इतिहास में हमारी भी कुछ पुरानी सभ्यता के लोग उस समय इस जगह पर पहुंचे हो और यह भी हो सकता है कि और यह भी हो सकता है कि पिछले कई सालों से चल रहे रिसर्च सेंटर को चलाने वाले कई लोग इन अवशेषों को दिखाकर कोई भ्रम पैदा करना चाहते हो सच आखिर कुछ भी हो लेकिन आज तक इस पर रिसर्च हो रहे हैं और इन सबसे महत्वपूर्ण नेचुरल एलिमेंट खोजने के न्युक्लियर रिसर्च लिस्ट और कई साल वैज्ञानिकों की टुकड़ी आज अंटार्कटिका पर जोर-शोर से रिसर्च चल रही है. 

6.  अंटार्कटिका पर सबसे पहले अकेला पहुंचने वाला आदमी न्यूजीलैंड का था उसका नाम डेविड हेनरी लूइस था और वह आदमी सबसे पहले अंटार्कटिका पर अकेला पहुंचा था उसने वहां पर पहुंचने के लिए एक 10 मीटर लंबी इस्पात की छोटी नाव आइस बर्ड इस्तेमाल किया था उससे वह वहां पर पहुंचा.इस महाद्वीप पर यांत्रिक परिवहन की शुरुआत करने का श्रेय रिचर्ड एवलिन बायर्ड को दिया जाता है जिन्होंने हवाई जहाज से अंटार्कटिका के लिए कई यात्रा की शुरुआत की और उनका नेतृत्व किया रिचर्ड एवलिन बायर्ड ने 1930 और 1940 के दशक के अंदर अंटार्कटिका की कई यात्रियों का नेतृत्व किया था.

7.  इसके अलावा सबसे पहले अमेरिका के एक नौसेना दल ने सफलतापूर्वक एक विमान उतारा था और अंटार्टिका के ऊपर जो यह विमान उतारा गया था इसका रियर एडमिरल जॉर्ज जे डुफेक नेतृत्व ने किया था  रियर एडमिरल जॉर्ज जे डुफेक के  नेतृत्व में अमेरिकी नौसेना दल ने 31 अक्टूबर 1956 के दिन पहली बार अंटार्टिका के ऊपर सफलता पूर्वक अपना विमान उतारा. अंटार्टिका का पूर्वी भाग सबसे ज्यादा ठंडा इसलिए है क्योंकि वह पश्चिमी भाग से ज्यादा ऊंचाई पर है इसलिए वह पूर्वी वह ज्यादा ठंडा है.

8.  अंटार्कटिका महाद्वीप का नाम अंटार्कटिका यूनानी योगिक शब्द से लिया गया है यूनानी योगिक शब्द में अंटार्कटिका से एंटार्कटिके आता है जोकि एंटार्कटिकोस का स्त्रीलिंग रूप होता है और जिसका अर्थ ‘उत्तर का विपरीत ‘होता है.और अंटार्टिका के ऊपर आज के समय में लगभग दुनियाभर के बहुत से देशों का रिजल्ट जारी है अभी नई नई चीजों के बारे में खोज कर रहे हैं और दिन प्रतिदिन उन वैज्ञानिकों की संख्या वहां पर बढ़ती ही जा रही है और नई नई खोजें की जा रही हैं आज के समय में लगभग 4000 से ज्यादा वैज्ञानिक दुनियाभर के अंटार्टिका के ऊपर अपनी रिसर्च कर रहे हैं और वे सभी अपने अलग अलग रिसर्च में लगे हुए हैं.

9.  अंटार्कटिका महाद्वीप पर इतनी बर्फ होने के कारण इसके साथ के कुछ देश के नजदीक है वह देश भी ठंडे रहते हैं और उन देशों में गर्मी नहीं है और अंटार्कटिका महाद्वीप के ऊपर लगभग 98 प्रतिशत बर्फ एक पाठ 1.6 किलोमीटर मोटी है और यहां पर बिल्कुल ठंड है और यह बस इतनी ठंड क्यों है और यह बर्फ कैसे यहां पर पैदा हुई क्योंकि पहले तो आज से लगभग 53 लाख साल पहले यहां पर  गर्मी थी और यह बर्फ किस तरह से पिघलती है या बढ़ती है यह कोई अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है और इसके बारे में अंटार्टिका के ऊपर बहुत अच्छे वैज्ञानिक रिसर्च भी कर रहे हैं और इनके अंदर अपनी नई नई बातें करते हुए आ रहे हैं लेकिन अभी तक सच का किसी को पता नहीं चल पाया है .

तो दोस्तो आज हमने आपको बताया इस पोस्ट में मजेदार रोचक तथ्य सामान्य ज्ञान रोचक जानकारियाँ 2018 रोचक बातें विज्ञान रोचक तथ्य रोचक तथ्य हिंदी सामान्य ज्ञान-रोचक जानकारियां रोचक तथ्य और जानकारी  अंटार्टिका महाद्वीप के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी और कुछ रोचक तथ्य और यह जानकारी मैं आशा करता हूं आपको बहुत ही पसंद आएगी  हमने आपको इसके बारे में बहुत से चीजों के बारे में बताया है जो कि आप ऊपर पोस्ट पूरी पढ़ कर देख सकते हैं और यदि आपको पसंद आए तो शेयर करना ना भूलें और यदि आप उसके बारे में कुछ सवाल जवाब हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं और अंटार्कटिका से जुड़ी कोई और जानकारी यदि आपके पास है तो हमारे साथ शेयर करना ना भूलें.

2 Comments
  1. Satish says

    Garage ki January……

  2. Vijay meena says

    Waha pe jivan ki suruat fir se hogi ,om

Leave A Reply

Your email address will not be published.